जम्मू-कश्मीर में नौकरियों की होगी बरसात
सीआईआई ने केंद्र सरकार तथा वित्त मंत्री से कहा है कि वह केंद्रशासित प्रदेश में निवेश पहल का पूरा समर्थन करेगा।


नई दिल्ली : देश के उद्योग संगठन भारतीय उद्योग परिसंघ (CII) ने शुक्रवार को केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को आश्वस्त किया कि वह जम्मू-कश्मीर में निवेश का भरपूर समर्थन करेगा। केंद्र सरकार ने पिछले दिनों जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को हटाने के साथ ही उसे दो केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू-कश्मीर तथा लद्दाख में विभाजित कर दिया है। 

कोटक महिंद्रा बैंक के एमडी तथा सीईओ एवं सीआईआई के नामित प्रेजिडेंट उदय कोटक ने कहा, 'हम जम्मू-कश्मीर में हर क्षेत्र में निवेश देखना पसंद करेंगे। सीआईआई ने केंद्र सरकार तथा वित्त मंत्री से कहा है कि वह केंद्रशासित प्रदेश में निवेश पहल का पूरा समर्थन करेगा।' 

अर्थव्यवस्था के विभिन्न पहलुओं पर निर्मला सीतारमण के साथ सीआईआई के सदस्यों की घंटे भर चली बातचीत के बाद संवाददाताओं से बातचीत में उन्होंने ये बातें कहीं। 

वहीं, वित्त मंत्री की सीआईआई नैशनल काउंसिल के साथ मीटिंग के बाद मेदांता समूह के चेयरमैन नरेश त्रेहन ने कहा कि हम आने वाले समय में जम्मू-कश्मीर को बढ़िया स्वास्थ्य देखभाव सुविधाएं प्रदान करेंगे। हेल्थकेयर क्षेत्र भारी तादाद में नौकरियों का सृजन करने वाला है। उन्होंने कहा कि अगर घाटी में 2,000 बेड का अस्पताल खोला जाता है तो इससे तत्काल 34,000 लोगों को रोजगार मिलेगा। 

कोटक ने कहा कि सीआईआई के सदस्यों ने विभिन्न सेक्टर्स पर अपने विचार व्यक्त किए और वित्त मंत्री ने न सिर्फ उन्हें ध्यान से सुना, बल्कि दिल खोलकर स्वागत किया। उन्होंने कहा, 'हम अर्थव्यवस्था को तेज रफ्तार से बढ़ते देखना चाहते हैं।' 

उदय कोटक ने कहा कि जिन क्षेत्रों को समर्थन तथा बढ़ावा देने की जरूरत है, उस पर बैठक के दौरान खुलकर चर्चा हुई। उन्होंने कहा कि वित्त मंत्री ने कहा है कि वह सदस्यों द्वारा दिए गए सुझावों पर विचार करेंगी। 

अधिक बिज़नेस की खबरें