महागठबंधन पर बोले मुलायम, कांग्रेस की हैसियत सिर्फ दो सीटों की
Mulayam singh yadav


लखनऊ, 2019 के लोकसभा चुनावों में यूपी में महागठबंधन को लेकर सपा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने एक बड़ा बयान दिया है. मुलायम सिंह यादव के मुताबिक कांग्रेस की हैसियत सिर्फ दो सीटों की है. मुलायम 2019 के लोकसभा चुनावों में कांग्रेस के साथ गठबंधन के पक्ष में भी नहीं हैं.

मुलायम सिंह यादव ने दो टूक शब्दों में कहा कि सपा-बसपा गठबंधन में कांग्रेस को नहीं शामिल किया जाना चाहिए. उनके मुताबिक कांग्रेस की हैसियत सिर्फ दो सीटों की है. हालांकि मुलायम ने सपा और बसपा के गठबंधन का समर्थन किया है. उनका कहना है कि अगर दोनों दल ईमानदार रहे तो दिल्ली की राह आसान नहीं है.

गौरतलब है कि प्रदेश की राजनीति में सपा और बसपा का गठबंधन तय माना जा रहा है. गोरखपुर और फूलपुर के लोकसभा उपचुनावों में दोनों ही दलों ने इसे सफलतापूर्वक आजमाया भी है. हालांकि अभी यह तय नहीं है कि सपा और बसपा गठबंधन में कांग्रेस शामिल होगी की नहीं, लेकिन मुलायम सिंह ने स्पष्ट कर दिया है कि कांग्रेस को गठबंधन में नहीं लिया जाना चाहिए.

बताते चलें वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में भी मुलायम कांग्रेस से गठबंधन के पक्ष में नहीं थे, लेकिन अखिलेश यादव ने कांग्रेस से गठबंधन कर चुनाव लड़ा और परिणाम निराशाजनक ही रहे.

दरअसल, सपा और बसपा रनर अप फार्मूले के तहत सीटों का बंटवारा करना चाहती है, जिसके अनुसार 2014 के लोकसभा चुनाव और 2017 के विधानसभा चुनाव में जिस दल के प्रत्याशी ने जीत दर्ज की या दूसरे नंबर पर रही उस सीट से उसी दल का प्रत्याशी मैदान में होगा. इस लिहाज से कांग्रेस को सात से ज्यादा सीटें नहीं मिलेंगी, लेकिन महागठबंधन की सूरत में राष्ट्रीय पार्टी होने के नाते कांग्रेस 20 सीटों की मांग कर सकती है.


अधिक राज्य की खबरें