PM आवास योजना में ठगी पर लगेगी लगाम, 24 से 48 घंटे में होगी गिरफ्तारी
File Photo


प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत ठगी करने वालों पर सरकार नकेल कसने जा रही है. पीएम आवास योजना के तहत उपभोक्ताओं से शिकायतें मिलने पर मंत्रालय ने निर्देश दिया है कि ठगी करने वालों की 24 से 48 घंटे में गिरफ्तारी हो जानी चाहिए. आवासीय मंत्रालय को देशभर से इस तरह की शिकायतें मिल रही हैं कि प्रधानमंत्री योजना के नाम पर धोखाधड़ी की जा रही है. कई लोग ऐसे हैं जो इस नाम का गलत इस्तेमाल कर रहे हैं.

पीएम आवास योजना का फायदा उठा रहे ठग
प्रधानमंत्री आवास योजना के नाम पर फर्जी वेबसाइट या ट्रस्ट बनाकर लोगों से ठगी की जा रही है. ठग लोगों को फर्जी वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन करने वालों को घर देने का भरोसा दे रहे हैं और रजिस्ट्रेशन के नाम पर 3000 से 5000 रुपये की फीस वसूली जा रही है. जैसे ही लोग ये फीस चुकाते हैं उसके बाद वो वेबसाइट बंद हो जाती है और जो कॉन्टैक्ट नंबर दिया जाता है उसपर कोई फोन नहीं उठाता या फिर नंबर भी बंद आती है.

तुरंत दर्ज की जाए FIR
इस तरह की ठगी देशभर में देखी जा रही है. इस पर रोक लगाने के लिए आवासीय मंत्रालय ने सभी राज्य सरकारों और रेरा अथॉरिटी को हिदायत दी है कि अगर वे इस तरह की शिकायत उनके सामने कोई भी उपभोक्ता लेकर आता है तो उसे सख्ती से निपटें. दोषी के खिलाफ तुरंत FIR दर्ज की जाए. धारा 420 के तहत फ्रॉड का मामला दर्ज करके 24 से 48 घंटे के अंदर गिरफ्तारी भी सुनिश्चित की जा सके.

साथ ही राज्य पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा को सतर्क किया जाए ताकि वो इस तरह की शिकायतों को गंभीरता से लें और इसे दरकिनार ना करें.


अधिक बिज़नेस की खबरें