गोण्डा जिले के गुमड़ी गुमान पुरवा स्थित ईट-भट्ठे पर कार्य कर रहे मजदूरों के परिवार को लेकर ट्रैक्टर-ट्रॉली उनके गांव लोहेपनिया जा रहा था।