UP में आंधी-तूफान का कहर, 10 की मौत
दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में बुधवार को धूल का गुबार छाया रहा.


लखनऊ : उत्तर प्रदेश में एक बार फिर से आंधी-तूफान का कहर देखने को मिला है. बुधवार को उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों में आए भीषण आंधी-तूफान से दस लोगों की मौत हो गई और 28 घायल हो गये. आंधी-तूफान से मरने वालों में गोंडा के तीन हैं, एक फैजाबाद और 6 सीतापुर के हैं. बता दें कि दिल्ली एनसीआर में बुधवार को मौसम का मिजाज बदला नजर आया. दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में बुधवार को धूल का गुबार छाया रहा. केन्द्रीय पर्यावरण मंत्रालय ने अनुमान व्यक्त किया कि अगले तीन दिन तक यह धुंध छाई रह सकती है.

वहीं, बीते दिनों उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों में कल आये आंधी-तूफान और आकाशीय बिजली गिरने से 26 लोगों की मौत हो गई थी.  सरकारी प्रवक्ता ने आज शाम बताया कि शुक्रवार को आंधी-तूफान एवं आकाशीय बिजली गिरने से प्रदेश के 11 प्रभावित जिलों में 26 लोगों तथा चार पशुओं की मौत हुई है. इनमें जौनपुर तथा सुल्तानपुर में पांच-पांच, चन्दौली एवं बहराइच में तीन-तीन, मिर्जापुर, सीतापुर, अमेठी तथा प्रतापगढ़ में एक-एक, उन्नाव में चार तथा रायबरेली में दो लोगों की मौत हुई. 

इतना ही नहीं, मंगलवार को मौसम विभाग ने चेतावनी जारी कर कहा था कि यूपी के गोंडा, बस्ती, फैजाबाद और लखनऊ के आसपास के इलाकों में धूल भरी आंधी चल सकती है. 

मंत्रालय के अनुसार दिल्ली के ऊपर छाई धूल भरी धुंध के लिए राजस्थान में आई धूल भरी आंधी मुख्य वजह है. यहां बुधवार को हवा की गुणवत्ता गंभीर स्तर से नीचे चली गई. मंत्रालय की ओर से जारी आधिकारिक बयान में अगले तीन दिनों तक दिल्ली में यह स्थिति बरकरार रहने की आशंका  है. 

अधिक राज्य की खबरें

फिर अखिलेश के साथ मंच पर दिखे मुलायम सिंह यादव कहा – बीजेपी ने जनता को धोखा दिया, अखिलेश के कामों से मिलेगा ‘वोट’ ..

देश के पूर्व रक्षा मंत्री और समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने आज सपा मुखिया ......