खराब सर्विस के कारण JIO से airtel की तरफ शिफ्ट हो रहे है ग्राहक
कॉन्सेप्ट फोटो


ग्लोबल मोबाइल एनालिटिक्स कंपनी , Opensignal ने बताया है कि अगस्त 2020 के दौरान Airtel और JIO दोनो ही लगभग बराबर के स्मार्टफोन ग्राहकों को अपनी तरफ जोड़ने में सफल हो रहे थे, पर सितंबर 2020 से काफी ज्यादा तादात में लोग JIO से airtel के सिगनल पर पोर्ट कर रहें है।

जब से JIO ने टेलीकॉम की दुनिया मे कदम रखा है यानी 5 सितंबर 2016 से, तब से मानो भारत के टेलीकॉम की दुनिया में मानो क्रांति आ गयी है, जिस देश में सभी टेलीकॉम कंपनियां ₹250 में 1 महीने के लिए 1GB मोबाइल डाटा दिया करती थी , और कालिंग का अलग से ₹1 एक मिनट का बात करने का देना पड़ता था ,

वहीं पर JIO ने भारत के टेलकॉम इंडस्ट्री में कदम रखा..

पहली बार कोई कंपनी अनलिमिटेड फ्री डेटा दे रही थी बिना किसी दाम के, और कालिंग की सुविधा भी अनलिमिटेड थी , यानी कॉल पर बात करने का कोई भी शुल्क कभी देना ही नही होगा।  वही जगह जहां बाकी कंपनियां ग्राहक को लूटती थी , ऐसे में JIO का आना मानो ऊपरवाले का वरदान, 

अपने अनलिमिटेड फ्री सर्विस देने के कारण jio ने भारत मे बहोत ज़्यादा ग्राहक जोड़े वो भी बहोत कम समय के अंदर, jio के इस डिजिटल क्रांति के कारण भारत देश दुनिया के डेटा कंसम्पशन में दुनिया के टॉप 10 में बेशुमार हो गया था।


 JIO से airtel पर सिम पोर्टेबल कर रहे ग्राहक की वजह जान लीजिए, JIO की सर्विस शुरुआत से अभी अगस्त 2020 तक बहोत अच्छी थी, चाहे वो मोबाइल डेटा की स्पीड हो या कालिंग क़्वालिटी दोनो में ही JIO ने हमेशा अच्छा परफॉर्म किया, उसका एक ये कारण भी था कि JIO एक लौती ऐसी कंपनी है जो केवल 4G स्पेक्ट्रम के अंडर काम करती है , वही जगह बाकी कंपनियां आज भी 2G और 3G स्पेक्ट्रम को भी चला रहीं है।

लेकिन पिछले साल यानी सितम्बर 2020 से अचानक JIO की सर्विस में गिरावट आई है, मोबाइल डेटा की नेट स्पीड बहोत ज़्यादा स्लो हो गयी थी, कई सारे ग्राहकों ने इसकी शिकायत भी की , की इंडोर कवरेज के मामले में jio खराब सर्विस दे रहा था,  काफी लोग उसका कारण किसान आंदोलन के दौरान जो JIO के मोबाइल टावर को तोड़ा गया था , वो भी मान रहे है। तो काफी ज्यादा तादात में लोग खराब सर्विस के कारण JIO के सिम को AIRTEL में पोर्ट करा रहे है, 

हालांकि अभी भी JIO 404.1million कस्टमर्स के साथ नंबर 1 पोजीशन पर है, वही जगह airtel 326.6 million और VI(vodafone Idea) 295.5 million कस्टमर्स का सब्सक्रिप्शन रक्खे है।

अपनी परफॉरमेंस पर ज़्यादा ध्यान देते हुए, airtel ने अपने 4G कवरेज पर काफी सुधार किया है, जिसमे में वो JIO को भारी टक्कर देने लायक हुआ है, 4G नेट स्पीड के मामले में। airtel ने 5G ट्रायल भी JIO के pehle ही कर लिया है जब कि 5G का अनाउंसमेंट पहले JIO ने किया था सितम्बर 2020 में।

(देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते है)

अधिक बिज़नेस की खबरें