बेकाबू हुआ कोरोना वायरस, विदेश मंत्री को देना पड़ा इस्तीफा!
फाइल फोटो



कॉपी एडिटड- वैभव तिवारी, लखनऊ

कोरोना के कारण क्या क्या मुसीबतों का सामना करना पड़ा है पूरी दुनिया को ये तो सभी जानते है, अभी वापस से कोरोना की रफ्तार बढ़ती नज़र आ रही है, पूरी दुनिया मे कोरोना का कहर वापस से नज़र आता दिखाई दे रहा है, ऐसे में सभी देश अपने अपने देश की जनता के लिए, कोरोना की वैक्सीन का प्रबन्द कर रहे है, सभी देश चाहे वो छोटे हो या बड़े देश, सभी वैक्सीन की सप्लाई में कोई कमी नही रहने देना चाहते और अपनी जनता को समय से कोरोना वैक्सीन की डोज़ मोहैय्या कराने में लगे हुए है। 

अभी हाल ही में ब्राज़ील से सामने आई एक खबर में पता चला है, जहां ब्राज़ील में सबसे ज़्यादा कोरोना के केसेस सामने आए थे, वही पर आज ब्राज़ील में कोरोना की वैक्सीन की कमी की खबर भी बाहर आई है, बताया जा रहा है कि ब्राज़ील सरकार के पास अपनी जनता को पर्याप्त वैक्सीन डोज़ देने के लिए वैक्सीन उस तादात में मौजूद है ही नही। 


हम आप को बता दें कि ब्राज़ील एक ऐसा देश है, जो खुद अपनी वैक्सीन बनाने के योग्य नही है, तो वैक्सीन के लिए उसको दूसरे देशों पर ही निर्भर रहना पड़ेगा। और इसी मामले में ब्राज़ील के विदेश मंत्री अर्नेस्टो अरेज़ों बेकार साबित हुए है, उनका घमंडी व्याहवार, और बेकार विदेश नीति के कारण ब्राज़ील को दूसरे देशों से वैक्सीन प्राप्त करने में दिक्कत आ रही है। उनके इसी रवैय्ये से ना खुश ब्राज़ील के राष्ट्रीयपति जेर बोलसेनेरो ने भी उनकी आलोचना की है और साथ ही साथ उनसे इस्तीफा भी मांगा गया है। आप को मालूम ही होगा कि भारत ने भी ब्राज़ील को वैक्सीन पहुचाई थी, जिस बात का ब्राज़ील ने शुक्रिया भी कहा था एक अलग ट्वीट के अंदाज़ से

(देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते है)

अधिक विदेश की खबरें

पीएम मोदी ने की अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन से मुलाकात, बोले-भारत-अमेरिका के बीच है भरोसे वाली दोस्ती

पीएम मोदी ने की अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन से मुलाकात, बोले-भारत-अमेरिका के बीच है भरोसे वाली दोस्ती..

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस समय टोक्यो में हैं. यहां वह क्वाड लीडर्स समिट में हिस्सा लेने के ......