बांग्लादेश में दुर्गा पूजा पंडाल में हमले के बाद अब इस्कान मंदिर में तोड़-फोड़
फाइल फ़ोटो


ढाका :कहने को तो बांगलादेश में लोकतांत्रिक व्यवस्था है लेकिन मुस्लिम आबादी की अधिकता से वहाँ भी अन्य धर्म के लोग सताए जा रहे है! सरकार का प्रयास केवल बयानबाजी तक ही सीमित रह गया है ! कट्टरपन्थियो के सामने लाचार है ! बांग्लादेश में दुर्गा पूजा पंडाल में हमले के बाद कट्टरपंथियों ने इस्कॉन टेंपल पर हमला किया है, उपद्रवियों ने मंदिर में तोड़फोड़ की है. वहीं श्रद्धालुओं के साथ मारपीट भी की है. 


इस हमले में कई लोग घायल हुए हैं. जाहिर है बांग्लादेश में अल्पसंख्यक हिंदुओं लगातार हमले हो रहे हैं. नवरात्री के दौरान दुर्गा पूजा पांडालों पर हमले और तोड़फोड़ का सिलसिला शुरू हुआ था वो बदस्तूर जारी है. वहीं, बांग्लादेश में रह रहे अल्पसंख्यक हिन्दुओं की सुरक्षा के लिए स्थानीय प्रशासन ने सरकार से गुहार लगाई है.जानकारी के अनुसार, नोआखाली इलाके में भीड़ ने इस्कॉन मंदिर पर अचानक से हमला बोल दिया था , इस दौरान मंदिर परिसर में जमकर तोड़फोड़ की गई. लेकिन इतने पर भी हमलावर नहीं रुके उन्होंने मारपीट करनी शुरू कर दी और मंदिर परिसर में आग लगा दी.

मंदिर में हमले, तोड़फोड़ और मारपीट की जानकारी स्कॉन मंदिर प्रशासन ने ट्वीट कर दी है. मंदिर प्रशानस ने बताया कि हमले में मंदिर को काफी नुक्सान हुआ है. कट्टरपंती मुसलमानों की भीड़ के हमले में एक भक्त को काफी चोट लगी हैं. उसकी हालत गंभीर बनी हुई है. इधर हमले के बाद एक बार बांग्लादेस की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने घटना पर चिंता जताई है. उन्होंने कहा है कि हिंदु मंदिरों और दुर्गा पंडालों में हमला करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा.

गौरतलब है कि इस्कॉन टेंपल पर हमले के पहले उपद्रवियों ने कई दुर्गा पूजा पांडालों पर हमला किया था, और वहां तोड़फोड़ की थी. इस दौरान की भक्तों के साथ मारपीट भी की गई. जिसमें कई लोग घायल हो गये थे. वहीं, प्रधानमंत्री शेख हसीना ने हमले के बाद भारत को नसीहत देते हुए कहा थी कि भारत में ऐसा कोई काम न हो जिसकी कीमत यहां रह रह अल्पसंख्यक हिन्दुओं को उटाना 

अधिक विदेश की खबरें