छत्तीसगढ़ नक्सली हमला: कुछ इस तरह से घेर कर जवानों पर हुआ हमला
कॉन्सेप्ट फोटो


रिपोर्ट :- वैभव तिवारी, लखनऊ



छत्तीसगढ़ के रायपुर से ये बहोत ही दुखद घटना सामने आई है, जिसमे CRPF के 22 जवान शहीद हुए है, आप को बता दें कि शनिवार को हुए इस हमले के बाद से रविवार तक जवानों के शव बरामद किए जा रहे है, बीजापुर के जंगलों से भी अभी हाल ही में 17 शव और बरामद किए गए है, आप को बता दें कि आये दिन ऐसे नक्सलियों के हमले लगातार बढ़ते जा रहे है, और पिछले 4 साल के मुताबिक देखा जाए तो ये हमला सबसे बड़ा हमला है, जिसमे सबसे ज़्यादा जान हानि हुई है, आप को बता दें कि इस हमले में कम से कम 400 नक्सली आये थे, जिन्होंने मशीन गन का इस्तेमाल किया था, और बहोत ही बेरहमी के साथ उनपर लगातार गोलियां बरसाते जा रहे थे। CRPF के जवानों को एकदम से अचानक से घेरा गया था, और उनपर नक्सलियों की टुकड़ी टूट पड़ी थी, जिसके बाद CRPF के डिरेक्टर कुलदीप सिंह को ग्रह मंत्री अमित शाह ने वहां का मुआयना करने को कहा था। ये इलाके पहले से ही नक्सलियों और उनके संघटनों से भरा हुआ है, जो कि बीजापुर और सुकमा जिले के भीतर आता है, इस हमले में 22 जवान तो शहीद हुए है उनके साथ साथ 31 जवान घायल भी हुए है।और उन संघटनों की खोज में सुरक्षा बल लगे हुए है, जिस नक्सल संघठन ने हमला किया था, वह संघटन काफी समय से वहां पर एक्टिव है।

 किस प्रकार किया गया था हमला

आप को बता दे कि शनिवार को सभी नक्सली टेकलगुड़ा गांव की पहाड़ी पर छुपे हुए थे, और पुलिस की टुकड़ी को निशाना बनाने आये हुए थे, तभी अचानक से 400 नक्सलियों ने गोलियों की बौछार करना शुरू कर दिया था, और उसी हमले से बचने के लिए, जब जवान गांव की तरफ भागे, तब कुछ नक्सली वहां भी छुपे हुए थे, जिन्होंने उन पर ढाबा बोल दिया था। आप को बता दे , की हमले के बाद जब सब के शव को ध्यान से देखा गया था, तब मालूम चला, की उनके शरीर मे गोली के साथ साथ कुछ धारीदार कटे हुए निशान भी थे, जिसका मतलब ये है कि उनपर चाकू से भी हमला किया गया था। और ये जानकारी भी मिली है कि शहीद हुए 22 जवानों में से 8 जवान कोबरा बटालियन के थे, जिसमे से 1 कोबरा बटालियन का जवान अभी भी लापता है, और अनुमान लगाया जा रहा है कि नक्सलियों ने उसे अगवा कर लिया है।

हेल हिड़मा नाम का नक्सली संगठन की पुष्टि हुई है

शनिवार को हुए इस हमले में नक्सलियों का एक बड़ा संघठन है जिसका नाम हेल हिड़मा बताया जा रहा है, उन्ही लोगों पर इस हमले का शक है, क्योंकि इस संगठन के लीडर हिड़मा को इस इलाके के आस पास देखा गया था, पास के गांव के लोगों से मिली जानकारी ,के कारण जवानों की एक टुकड़ी उसकी तलाश में है।
आप को बता दें कि इस हमले न सिर्फ CRPF बल्कि नक्सलियों के भी कम से कम 12 लोग मारे गए थे।

अधिक देश की खबरें