पीएफआई के खिलाफ एनआईए व ईडी की संयुक्त करवाई, टेरर फंडिंग व संदिग्ध गतिविधियों में शामिल 106 लोगों पर कसा शिकंजा
दिल्ली पुलिस ने पीएफआई अध्यक्ष परवेज और राष्ट्रीय अध्यक्ष सालम को गिरफ्तार किया


नई दिल्ली : राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की संयुक्त टीम ने गुरुवार को राजधानी दिल्ली समेत 11 राज्यों में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के ठिकानों पर एक साथ छापेमारी की.  इस कार्रवाई के दौरान 106 संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया है. वहीं, छापेमारी के मद्देनजर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की अहम बैठक चल रही है.

छापेमारी के दौरान एनआईए ने सबसे अधिक गिरफ्तारियां केरल, कर्नाटक और महाराष्ट्र में की हैं. इसके अलावा राजधानी दिल्ली से तीन और उत्तर प्रदेश से आठ लोगों को गिरफ्तार किया है. सूत्रों के अनुसार, दिल्ली में पीएफआई अध्यक्ष परवेज के यहां एनआईए ने तड़के साढ़े तीन बजे छापेमारी कर उसे और उसके भाई को गिरफ्तार किया. ओखला में रहने वाला परवेज लंबे समय से पीएफआई से जुड़ा है.

सूत्रों के अनुसार, पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के ठिकानों पर आज सुबह राष्ट्रीय जांच एजेंसी, प्रवर्तन निदेशालय और राज्य पुलिस की मदद से यह छापेमारी की गई है. इस छापेमारी में सबसे ज्यादा गिरफ्तारी केरल में हुई. इस बीच एनआईए द्वारा पहले दर्ज एक मामले में जांच एजेंसी ने हैदराबाद के चंद्रयानगुट्टा में तेलंगाना पीएफआई मुख्यालय को सील कर दिया है. पुणे के कोढ़वा इलाके में भी छापेमारी चल रही है.

छापेमारी के दौरान केरल में 22 लोगों के अलावा कर्नाटक और महाराष्ट्र में 20-20 लोग गिरफ्तार किए गए हैं. इसके बाद सबसे ज्यादा 10 गिरफ्तारी तमिलनाडु से की गई है. इसी क्रम में असम से 9, उत्तर प्रदेश से 8, आंध्र प्रदेश से पांच, मध्य प्रदेश से चार लोगों को गिरफ्तार किया गया जबकि पुडुचेरी से 3 और राजस्थान से दो गिरफ्तारियां हुई हैं.

सूत्रों के मुताबिक, महाराष्ट्र में भी पीएफआई के ठिकानों पर एनआईए का सर्च ऑपरेशन चल रहा है। पीएफआई पर देश में हिंसा भड़काने, आतंकवादी हमले कराने, दंगे फसाद और टेरर फंडिंग जैसे गंभीर आरोप हैं. पीएफआई के डी कंपनी के साथ भी कनेक्शन की बात सामने आ रही है. ऐसे में एनआईए को जांच के बाद पुख्ता सबूत भी मिल सकते हैं.


(देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते है)

अधिक देश की खबरें