उन्नाव : पुलिस हिरासत में सब्जी विक्रेता की मौत, परिजनों ने लगाए गंभीर आरोप 
मृतक सब्जी विक्रेता फैसल


उन्नाव : उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले के बांगरमऊ में एक सब्जी विक्रेता की पुलिस हिरासत में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो जाने से हड़कंप मच गया है. मृतक का नाम फैसल है. फैसल की मौत से नाराज परिजनों ने बवाल शुरु कर दिया और शव को मुख्य मार्ग पर रखकर तीन जगहों पर रास्ता अवरुद्ध कर दिया गया. घटना की सूचना पर कई उच्च अधिकारियों, पीएसी बल व पुलिस बल द्वारा पहुंचकर परिजनों को समझाने का प्रयास किया गया किंतु परिजन सड़क खाली करने से मना कर दिया.

बताया जा रहा है कि बांगरमऊ नगर के मोहल्ला भटपुरी निवासी फैसल (20) पुत्र इस्लाम स्थानीय सब्जी मंडी में सब्जी बेच रहा था तभी कोरोना नियमो के पालन हेतु पहुंची पुलिस द्वारा किसी बात को लेकर उसे हिरासत में लिया गया. पुलिस हिरासत में इस दौरान उसकी उसकी हालत खराब हो गयी. जिसके बाद उसे स्थानीय अस्पताल में भर्ती करवाया गया. जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

युवक की मौत की खबर जिले में आग के तरह फैल गयी और देखते ही देखते सैकड़ों लोग अस्पताल में जमा हो गए. जहां परिजनों ने पुलिस की पिटाई से मौत होने का गंभीर आरोप लगाया है. घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस द्वारा समझाने का प्रयास किया गया. किंतु सैकड़ों की भीड़ और उग्र हो गयी तथा पुलिस मुर्दाबाद आदि के नारे लगाए जाने लगे.

इस दौरान भारी संख्या में महिलाओं के भीड़ ने अस्पताल के डॉक्टरों से अभद्रता की गई और  कई तरह के आरोप भी लगाए गए. जिसके बाद आक्रोशित परिजनों द्वारा अस्पताल के बेड समेत शव को लखनऊ मार्ग और संडीला मार्ग समेत अस्पताल के सामने मार्ग जाम कर दिया. 

घटना की सूचना पर क्षेत्राधिकारी बांगरमऊ आशुतोष, क्षेत्राधिकारी सफीपुर बीनू सिंह, उपजिलाधिकारी दिनेश कुमार व एडिशनल एसपी शशि शेखर भी मौके पर पहुँचे. करीब 4 घंटे गुजरने के बाद भी जाम नहीं खुलवाया जा सका है. परिजन मृतक के परिजनों को 51 लाख की आर्थिक मदद, एक परिजन को सरकारी नौकरी व दोषी पुलिसकर्मियों पर हत्या का मुकदमा लिखवाए जाने की मांग पर अडिग है.


अधिक राज्य/उत्तर प्रदेश की खबरें