यूपी : रिटायर्ड IAS अरविंद शर्मा भाजपा में हुए शामिल, विधान परिषद भेज सकती है पार्टी 
भाजपा की सदस्ता लेने के बाद रिटायर्ड IAS अरविंद शर्मा


लखनऊ:उत्तर प्रदेश के रिटायर्ड आईएएस अधिकार अरविंद शर्मा भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए हैं.​ मकर संक्रांति के ​मौके पर भाजपा मुख्यालय ​पर भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने उन्हें सदस्यता ग्रहण कराई. इस ​मौके पर उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा, भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष दयाशंकर सिंह​, प्रदेश महामंत्री जेपीएस राठौर, गोविंद शुक्ला, कैबिनेट मंत्री दारा सिंह चौहान भी मौजूद रहे.

प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव ने कहा कि एके शर्मा के आने से पार्टी को उनके अनुभव का लाभ मिलेगा और पार्टी का मान बढ़ेगा और पार्टी को सम्मान मिलेगा. उन्होंने कहा कि ईमानदार लोग जब आते हैं, तो पार्टी का भी कद बढ़ता है.
बीजेपी में शामिल होने के बाद कही ये बात
बीजेपी में शामिल होने के बाद अरविंद शर्मा ने कहा, 'बीजेपी की सदस्यता ग्रहण करने की खुशी है. हमारे देश में बहुत सारे राजनीतिक दल हैं, लेकिन भाजपा सबसे बड़ी पार्टी है.' उन्होंने आगे कहा, 'मैं पिछड़े जिले और गांव का हूं. मुझ जैसे साधारण व्यक्ति को जिसकी कोई राजनीतिक पृष्ठभूमि नहीं है उसे भाजपा ही इतना बड़ा मुकाम दे सकती है. मैं प्रधानमंत्री के प्रति आभार व्यक्त करता हूं और उम्मीदों पर खरा उतरने का प्रयास करूंगा.'

लंबे समय तक किया पीएम मोदी के साथ काम
उत्तर प्रदेश के मऊ जिले में 11 अप्रैल 1962 को जन्‍मे अरविंद कुमार शर्मा 1988 बैच के गुजरात कैडर के आईएएस अफसर रहे हैं. जब नरेन्द्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे, तब अरविन्द शर्मा ने 2001 से लेकर 2013 तक उनके साथ मुख्‍यमंत्री कार्यालय में काम किया. उन्हें आपदा प्रबंधन, कॉपोर्रेट प्रबंधन, औद्योगिक और निवेश संवर्धन के साथ इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट विभागों को संभालने का अनुभव है. 

विधान परिषद भेज सकती है बीजेपी
अरविंद शर्मा के कार्यकाल के 2 साल बचे थे, लेकिन दो दिन पहले उन्होंने वीआरएस ले लिया और राजनीति में आने का फैसला किया. इसके बाद चर्चा तेज है कि बीजेपी अरविंद शर्मा को यूपी विधान परिषद भेज सकती है और सरकार में उन्हें बड़ी ​जिम्मेदारी​ दी जा सकती है.


अधिक राज्य/उत्तर प्रदेश की खबरें