प्रतापगढ़ में तीन दरोगा और नौ सिपाहियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज करने का आदेश
file photo


प्रतापगढ़ : उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले के सांगीपुर क्षेत्र के बाबूतारा गांव में दबिश देने गई पुलिस की पिटाई से मकबूल खान की मौत मामले में CJM कोर्ट ने तीन दरोगा और नौ सिपाहियों के खिलाफ हत्या सहित विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया है. दर्ज मुकदमे में सांगीपुर थाने में तैनात रहे तत्कालीन एसओ प्रमोद सिंह का नाम भी शामिल है.

बता दें कि जनपद के लालगंज इलाके के बाबूतारा गांव निवासी रमजान खान ने सीजेएम कोर्ट में वाद दायर कर आरोप लगाया था कि 19-20 सितंबर 2020 को तत्कालीन सांगीपुर एसओ प्रमोद सिंह, दरोगा रामअधार यादव, गणेशदत्त पटेल, सिपाही राममिलन, श्रवण कुमार, रविशंकर, रामनिवास और पांच अज्ञात सिपाहियों ने घर में घुसकर उसके पिता मकबूल की पिटाई कर दी, जिससे उनकी मौके पर मौत हो गई.

इसके बाद पुलिस ने मनमानी करते हुए अपनी मौजूदगी में शव का अंतिम संस्कार करा दिया. वकीलों की दलीलें सुनने के बाद सीजेएम कमल सिंह ने एसओ सांगीपुर को सात दिन के अंदर सभी आरोपियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज करने और स्वयं जांच करने का आदेश दिया है. बता दें कि मकबूल की मौत के बाद जिले में कई दिनों तक हंगामा हुआ था. घटना को लेकर पुलिस की किरकिरी हुई थी.


अधिक राज्य/उत्तर प्रदेश की खबरें