ग्रामोफोन ऐप के पास है किसानों के हर सवाल के जवाब
मोबाइल फोन के माध्यम से हर क्षेत्र में सुविधाओं का अम्बार लग गया है।


सूचना प्रौद्योगिकी ने दुनिया में बहुत कुछ बदल दिया हैं। मोबाइल फोन के माध्यम से हर क्षेत्र में सुविधाओं का अम्बार लग गया है। लेकिन, अभी तक किसानों की खेती संबंधी समस्याओं को इस माध्यम से हल किए जाने का कोई सही और दूरदर्शी प्रयास नहीं हुआ। इस दिशा में एक सटीक प्रयास है, सिर्फ किसानों के लिए बनाया गया हैं मोबाइल ऐप ग्रामोफोन। ये ऐप किसानों के साथ काम करके उनकी समस्याओं को हल करने की कोशिश कर रहा है, ताकि वे अपने पूरे फसल चक्र के दौरान कृषि संबंधी समस्याओं से तत्काल निजात पा सकें और साथ ही उन्हें विशेषज्ञों की सही सलाह मिल सके। 

इस ऐप का सबसे सशक्त पक्ष है इसका उपयोग! कंपनी के पास एक टोल फ्री नंबर (18001236566) है, जिस पर किसान अपने मोबाइल फोन से मिस कॉल दे सकता है, फिर किसान के मोबाइल नंबर पर ग्रामोफोन के कृषि विशेषज्ञ कॉल करके किसान से बात करके उसकी समस्याओं, जिज्ञासाओं को हल करते हैं और उसे कृषि संबंधी सही सलाह देते हैं। किसानों को कृषि से जुड़े सही उत्पादों (दवाइयाँ और कीटनाशक) की भी सलाह दी जाती है, ताकि वे अपनी फसल का उत्पादन बढ़ा सकें। ग्रामोफोन ऐप पर ये सुविधा भी उपलब्ध है कि किसान कॉल सेंटर या ग्रामोफोन ऐप के माध्यम से भी अपनी जरूरतों का ऑर्डर दे सकता है। ऐप पर उपलब्ध सामुदायिक सुविधा पर किसान विशेषज्ञों और सह-किसानों से संपर्क कर सकते हैं। यह सुविधा किसानों को सीधे विशेषज्ञों से बात करने और खेती को नुकसान पहुंचाने वाले कीट और बीमारियों की समस्याओं को हल करने में भी सक्षम है।
ग्रामोफोन ऐप का कांसेप्ट आईआईटी से प्रशिक्षित इंजीनियरों निशांत वत्स, तोसीफ खान, हर्षित गुप्ता और आशीष सिंह को आया था। इन्होने आईआईएम अहमदाबाद से एमबीए भी किया है। इस सभी ने मिलकर जून 2016 में उन्होंने इसकी शुरुआत की। इन्होंने कृषि के क्षेत्र में गहराई से काम किया है और ये समझते हैं कि प्रौद्योगिकी के जरिए जमीन का संयोजन कर किसान उत्पादकता में कैसे सुधार ला सकता है! 

सामान्यतः किसान अपनी समस्याओं के हल के लिए हमेशा ही परेशान रहता है। क्योंकि, उसके आसपास ऐसा कोई नहीं होता जो किसानों के खेती संबंधी सवालों के सही जवाब दे सके। ग्रामोफोन ऐप किसानों की सभी समस्याओं का एकमात्र हल। है। खेती से जुड़े किसानों के सवाल दरअसल कुछ ऐसे होते हैं! फसल संबंधी समस्याओं के बारे में विशेषज्ञों से बात कैसे हो सकती है? कौनसा कीटनाशक, कितने डोज में उसकी फसल की रक्षा करेगा? फसल के पोषण की सही जानकारी कहाँ से मिलेगी? मुझे अपनी जमीन से ज्यादा पैदावार कैसे मिल सकती है? अच्छी किस्म के बीज, दवाइयाँ, कीटनाशक सही कीमत पर कहाँ से मिलेंगे? क्या उसे दवाइयों और कीटनाशकों की खरीद का पक्का बिल मिलेगा? क्या बाजार जाए बिना उसे कृषि संबंधी दवाईयाँ, कीटनाशक उपलब्ध हो सकते हैं? मंडी के भाव और मौसम की सही जानकारी उसे कौन देगा? ग्रामोफोन के पास इन सारे सवालों के जवाब हर वक्त मौजूद होते हैं। 


अधिक बिज़नेस की खबरें