स्वतंत्रता दिवस: लाल किले से कांग्रेस पर मोदी का करारा हमला
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 72वें स्वतंत्रता दिवस पर ऐतिहासिक लाल किले से दिए गए अपने संबोधन के दौरान कांग्रेस को निशाने पर लिया।


नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 72वें स्वतंत्रता दिवस पर ऐतिहासिक लाल किले से दिए गए अपने संबोधन के दौरान कांग्रेस को निशाने पर लिया। पीएम ने इस दौरान अपनी पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार पर योजनाओं और नीतियों को लटकाने का आरोप लगाया। जीएसटी से लेकर वन रैंक वन पेंशन के मुद्दे पर पीएम ने कांग्रेस को आड़े हाथों लिया। पीएम ने कहा कि अगर 2013 की रफ्तार से चलते तो शौचालय बनवाने में 100 साल लग जाते। 

पीएम ने लाल किले से अपने पांचवें संबोधन में कहा, 'चार साल में देश बदलाव महसूस कर रहा है। आकाश वही है पृथ्वी वही है, लोग, दफ्तर सब कुछ पहले जैसा है लेकिन अब देश बदल रहा है। कभी भारत की गिनती कमजोर अर्थव्यवस्थाओं में होती थी लेकिन आज देश अरबों डॉलर के निवेश का बेहतर गंतव्य बन गया है। बदलाव का ही नतीजा है कि दुनिया के नेतृत्वकर्ता भारत के लिये कह रहे हैं कि सोया हुआ हाथी अब जाग चुका है और आने वाले तीन दशक तक भारत विश्व को गति देगा। ऐसा विश्वास आज भारत के लिये पैदा हुआ है। दुनिया भर के अर्थशास्त्री अब मानने लगे हैं कि भारत अगले तीन दशक तक वैश्विक अर्थव्यवस्था को गति देता रहेगा।' 

पीएम मोदी ने कहा, '2014 से पहले दुनिया की गणमान्य संस्थाएं और अर्थशास्त्री कभी हमारे देश के लिए क्या कहा करते थे, वह भी एक जमाना था जब वे कहते थे कि हिंदुस्तान की इकॉनमी बड़ी रिस्क से भरी है, वही लोग आज हमारे रिफॉर्म की तारीफ कर रहे हैं। 2013 में जिस रफ्तार से हमारा देश चल रहा था उसे आधार मानें और जो पिछले चार सालों में काम हुए हैं, उन कामों का लेखा-जोखा लें तो आपको अचरज होगा कि देश की रफ्तार क्या है, गति क्या है और प्रगति कैसे आगे बढ़ रही है।' 

पीएम मोदी ने इस दौरान कहा, 'अगर हम 2013 की रफ्तार से शौचालयों का निर्माण कराते तो अभी 100 साल लग जाते। अगर हम गांव में बिजली पहुंचाने की बात करें, तो 2013 के आधार के आधार पर सोचें, तो एक दो दशक और लग जाते। जिस रफ्तार से 2013 में गांवों तक ऑप्टिकल फाइबर पहुंचाने का काम चल रहा था, उस रफ्तार से देश के हर गांव को ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ने में कई पीढ़ियां गुजर जातीं। जिस रफ्तार से 2013 में गैस कनेक्शन दिया जा रहा था, अगर वही पुरानी रफ्तार होती तो देश के हर घर में सालों तक भी गैस कनेक्शन नहीं पहुंच पाता। लेकिन चार साल में बहुत कुछ बदला और देश आज बदलाव महसूस कर रहा है।' 

पीएम मोदी ने किसानों का जिक्र करते हुए कांग्रेस पर निशाना साधा। पीएम ने कहा, 'न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) को बढ़ाने की सालों से मांग की जा रही थी। किसानों से लेकर राजनीतिक दल और कृषि विशेषज्ञ हर कोई इसकी मांग कर रहा था लेकिन कुछ नहीं हुआ। किसानों के आशीर्वाद से हमारी सरकार ने एमएसपी बढ़ाने का निर्णय लिया। किसानों को उनकी फसल की लागत का डेढ़ गुना एमएसपी देने की मांग थी जिसे हमने पूरा किया। देश आज रेकॉर्ड अन्‍न उत्‍पादन कर रहा है।' 

जीएसटी को लेकर कांग्रेस को घेरते हुए पीएम ने कहा, 'जीएसटी को संसद में पास क्यों नहीं होने दिया गया। यह सालों से लटका हुआ था। पिछले साल जीएसटी एक हकीकत बनकर आया। मैं कारोबारी समुदाय को जीएसटी की सफलता के लिए बधाई देना चाहता हूं। शुरू में कठिनाइयों के बावजूद देश ने जीएसटी को अपनाया और व्यापारियों का भरोसा बढ़ा है ।' 

जवानों के वन रैंक वन पेंशन (ओआरओपी) के मुद्दे पर कांग्रेस को कठघरे में खड़ा करते हुए पीएम ने कहा, 'ओआरओपी की मांग दशकों से लंबित थी। देश की जनता, हमारे बहादुर सैनिकों को हम पर भरोसा था और हमने ओआरओपी पर फैसला लेकर दिखाया। हमारी सरकार हमेशा देश के हित में फैसले लेती रहेगी।' 

पीएम ने तीन तलाक के मुद्दे को लेकर भी कांग्रेस की मंशा पर सवाल उठाए। पीएम ने कहा कि तीन तलाक से मुस्लिम महिलाओं का जीवन बर्बाद हो रहा है। हमारी सरकार ने तीन तलाक पर संसद में कानून पारित करने की कोशिश की लेकिन कुछ लोगों की वजह से तीन तलाक पर कानून नहीं पारित हो सका। 


अधिक देश की खबरें