इस बार होली पर घर में बनाएं नैचुरल कलर, डालें एक नजर...
कॉन्सेप्ट फोटो


होली का त्योहार आने वाला है, मतलब रंगों का त्योहार। इस त्योहार में जब आप किसी को रंग लगाते हैं तो दिमाग में एक बार उससे होने वाले रिएक्शन का ख्याल जरूर आता है। एलर्जी और रिएक्शन आपका हुलिया बिगाड़ सकते हैं इसीलिये इस बार होली पर इन चिंता से आपको ये आर्टिकल दूर करेगा। 

जानते हैं कि किस तरह से कैमिकल से नहीं नैचुरल रंगों से आप होली का त्योहार मना सकते हैं और इतना ही नहीं आप घर बैठे इन रंगों को बना सकते हैं। 

पीला रंग

 पीला रंग बनाने के लिए 1:2 के अनुपात में हल्दी पाउडर और बेसन लें. इन दोनों को मिक्स करके सूखा गुलाल तैयार कर सकते हैं. गेंदे के फूल और गुलदाउदी के फूल दोनों को पीसकर गीला रंग भी तैयार कर सकते हैं. 


लाल रंग

सूखे हुए लाल हिबिस्कस फूलों का उपयोग करके लाल रंग तैयार किया जा सकता है. हिबिस्कस और चायना रोज को  पीसकर पाउडर बना लें. इसके स्थान पर लाल चंदन का भी उपयोग कर सकते हैं. लाल गुलाल बनाने के लिए आप चावल के आटे की समान मात्रा इसमें मिला सकते हैं. अगर आपको गीला लाल रंग ज्यादा पसंद तो अनार के छिलकों को उबालकर गीला रंग भी तैयार कर सकते हैं.

हरा रंग

हरा रंग बनाने के लिए हिना या मेंहदी पाउडर का इस्तेमाल करें. हरी पत्तेदार सब्जियां जैसे पालक या नाम को पानी में उबाल लें. पानी में उबलने के बाद पालक या नीम का रंग इसमें आ जाएगा और हरा रंग तैयार हो जाएगा.

मैजेंटा

मैजेंटा रंग बनाने के लिए चुकंदर अच्छा ऑप्शन है. चुकंदर को पीस में काटकर इसे पानी में उबाल लें और रातभर ऐसे ही रहने दें. अगले दिन जब आप देखेंगे तो मैजेंटा रंग तैयार हो चुका होगा.

(देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते है)

अधिक सेहत/एजुकेशन की खबरें

इस बार होली पर घर में बनाएं नैचुरल कलर, डालें एक नजर...

जिम्मेदारियां निभाने वाली महिलाओं को भी रखना होगा हेल्थ का ख्याल, शरीर में इस विटामिन की कमी से पड़ है हार्ट अटैक ..

घर की जिम्मेदारियों की वजह से अक्सर महिलाएं अपना ख्याल नहीं रख पाती हैं. ऐसे में उन्हें ......