उन्नाव : दिव्यांग ने कोटेदार के खिलाफ जमीन कब्जे को लेकर की शिकायत, संदिग्ध परिस्थितियों में मौत
कांसेप्ट फोटो


उन्नाव : उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले पुरवा थाना क्षेत्र में भूमि पर जबरन कब्जा करने को लेकर कोटेदार के विरुद्ध शिकायत करने गये एक दिव्यांग युवक की आज सुबह संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गयी. कोतवाली पुलिस ने शव को पंचनामा के बाद पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

जानकारी के अनुसार बीते शुक्रवार को कोतवाली क्षेत्र के अन्तर्गत ग्राम कोड़रा मजरे भादिन निवासी दिव्यांग कमल किशोर (40) पुत्र बच्चू लाल की शनिवार को संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गयी. घटना की जानकारी होते ही कमल किशोर की मां रामकुमारी, भाई सुनील व बहन सुदेवी आदि परिजनों में कोहराम मच गया. 

घटना के मुताबिक बीते शुक्रवार की दोपहर एक पैर से दिव्यांग कमल किशोर ने उसके कब्जे की घूरा व कंडा पाथने की भूमि पर जबरन कब्जा करने का आरोप गांव के ही कोटेदार पर लगाया था. जिसमें उप जिलाधिकारी ने कोतवाली पुलिस को कार्यवाही के निर्देश दिये थे. पीडि़त ने हाथों हाथ कोतवाली पुलिस को शिकायतीपत्र थमाकर शीघ्र कार्रवाई की मांग की. तभी कोतवाल ने मामले में पुलिस भेजकर उसे भी गांव पहुंचने को कहा.

लेकिन आरोपी के भयवश वह अपनी बुजुर्ग मां के साथ देर रात कोतवाली से स्थानीय सीएचसी चला गया. नाम न छापने की शर्त पर ग्रामीणों ने बताया कि मानसिक रुप से स्वस्थ दिव्यांग कमल किशोर के शनिवार की सुबह मां के साथ चार पहिया वाहन से घर पहुंचने के कुछ घंटो बाद ही दर्दनाक मौत हो गयी. गांव में दीवार में सिर पटकने व जमीन पर गिरने से सिर में चोटें आने की अटकलें लगाई जा रही है. 

घटना की जानकारी बाद मौके पर पहुंचे कोतवाली के दरोगा अरविंद सिंह रघुवंशी ने शव को पंचनामा बाद विच्छेदन गृह भेज दिया है. घटना की बाबत कोतवाल अजय कुमार त्रिपाठी ने बताया कि मृतक मानसिक रूप से विक्षिप्त था. शव की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद के बाद ही जांच कर आवश्यक कार्यवाही की जाएगी.


अधिक राज्य/उत्तर प्रदेश की खबरें